सीधे खाते में ट्रांसफर होंगे पैसे? कोरोना वायरस इफेक्ट

0
66
Modi & Money

पीएम मोदी ने मंगलवार शाम तीन सप्ताह के लॉकडाउन की घोषणा की है. भारत द्वारा बुधवार को अगले 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा के बाद देश की 130 करोड़ आबादी अपने घर से नहीं निकल पाएगी. कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर लगाम लगाने के लिए किए गए लॉकडाउन की वजह से देश की अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले असर को दूर करने के लिए सरकार ने कमर कस ली है. इसपर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यालय और वित्त मंत्रालय तथा भारतीय रिजर्व बैंक के बीच बातचीत चल रही है.
Modi-Meeting

सरकार का सबसे महत्वाकांक्षी प्रयास

कोरोना वायरस के संकट से मुकाबले के लिए यह सरकार का सबसे महत्वाकांक्षी प्रयास है. सरकार ने अभी पैकेज को अंतिम रूप नहीं दिया है पर इन पैसों का इस्तेमाल जनता के अकाउंट में पैसे सीधे ट्रांसफर करने और लॉकडाउन से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए बिजनस की मदद करने के लिए किया जा सकता है।

RBI और India Government का मिलकर उभरेगें पैसे  

सरकार वित्त वर्ष 2020-21 के लिए कर्ज में इजाफा कर सकती है. सरकार ने आगामी वित्त वर्ष के लिए 7.8 लाख करोड़ रुपये का कर्ज लेने की योजना बनाई है. केंद्रीय बैंक से सरकारी प्रतिभूतियों को खरीदने के लिए कहा गया था, हालांकि महंगाई बढ़ने के डर से पिछले कुछ सालो से आरबीआई ने ऐसा नहीं किया है. आरबीआई को दुनिया के अन्य केंद्रीय बैंकों की तरह ही बॉन्ड खरीदना पड़ेगा, केंद्र सरकार आरबीआई की वेज-ऐंड-मिंस सुविधा का भी इस्तेमाल कर सकती है जो केंद्रीय बैंक द्वारा राज्यों को दी जाने वाली ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी होती है.

सरकार ने इससे पहले भी कई कदम उठाए है

एक और फैसला जो इस मुश्किल घड़ी में जनता के लिए राहत भरा है, वह है किसी भी बैंक के एटीएम से पैसे निकालने पर कोई फीस न लगना. रिटर्न फाइल करने की डेडलाइन सहित कई सुविधाओं की घोषणा की गई है. आईटीआर फाइलिंग से लेकर पैन-आधार लिंकिंग तक कई वित्तीय डेडलाइन्स को आगे बढ़ाकर 30 जून कर दिया गया है. इसके अलावा  कोरोनावायरस से लड़ रही इकॉनमी को सरकार ने थोड़ी राहत देने की कोशिश की है.

आपको घर बैठे मिलेगा कैश

Money

लॉकडाउन के दौरान बैंक जरूरी सेवाओं को जारी रखेंगे ऐसे पहिले ही सरकारद्वारा बताया गया है. लॉकडाउन में भी वैसे तो एटीएम से कैश निकालने के लिए छूट मिलती है, पर एटीएम आपके घर से दूर हो तो मुश्किल बढ़ सकती है. ऐसे में बैंक खुद आपको आपके घर पैसे देने की सुविधा कर रही है. आप सोच रहे होंगे यह कैसे मुमकिन होगा।

देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक SBI आपके घर तक नकदी पहुंचाने की सुविधा प्रदान करता है, यही नहीं, आपके घर पर ही बैंक आपके पैसे जमा लेने की भी सुविधा प्रदान करता है. एसबीआई, एचडीएफसी बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक तथा एक्सिस बैंक अपने ग्राहकों को घर पर कैश डिलीवरी की सुविधा प्रदान करते हैं।

एचडीएफसी बैंक भी अपने खातधारक को घर पर नकदी पहुंचाने की सुविधा प्रदान करता है पर उसके लिए कैश लिमिट 5,000-25,000 रुपये है. इसके लिए एचडीएफसी बैंक 100-200 रुपये का शुल्क लेता है. एसबीआई भी मेडिकल इमर्जेंसी के दौरान 100 रुपये का शुल्क चुकाकर बैंक की इस अनोखी सुविधा का फायदा उठा सकता है. कुछ ऐसे भी सुविधा एक्सिस बैंक तथा कोटक महिंद्रा बैंक भी प्रदान करता है.